10upon10.com

षष्टम विज्ञान(Science Sixth-Hindi Medium)

भोजन: यह कहाँ से आता है

कच्ची सामग्रियाँ जिनसे भोजन बनाया जाता है, भोजन के संघटक कहलाते हैं।

भोजन पकाने में हम कई तरह की कच्ची सामग्रियों का उपयोग करते हैं। चावल बनाने में केवल दो संघटकों अर्थात कच्ची सामग्रियों का उपयोग होता है। ये सामग्रियाँ हैं, कच्चा चावल तथा जल। चावल को जल में कुछ समय अर्थात उसके पकने तक उबाल देने पर ही चावल तैयार हो जाता है। सब्जी बनाने के लिये सामान्यत: कच्ची सब्जी, नमक, हल्दी, मिर्ची, तथा जल का कच्ची सामग्री के रूप में उपयोग किया जाता है। हालाँकि कई ऐसी खाद्य सामग्रियाँ हैं, जिन्हें हम कच्चा ही खाते है, अर्थात उन्हें पकाने की आवश्यकता नहीं होती है।

खाद्य सामग्री हमें केवल दो स्त्रोतों से प्राप्त होते हैं, ये स्त्रोत हैं (A) पेड़-पौधे (पादप) तथा (B) जंतु ....

भोजन के घटक

सभी सजीवों को जीवित रहने तथा कार्य करने के लिए उर्जा की आवश्यकता होती है, इस उर्जा को वे भोजन से प्राप्त करते हैं।

भोजन उर्जा के अलावे भी हमें कई अन्य पदार्थ देता है, जो हमें विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचाता है तथा हमारे शरीर को विकसित होने में सहायक होता है।

पोषक तत्व क्या हैं: वैसे तत्व जो पोषण देते हैं, पोषक तत्व कहलाते हैं। पोषक तत्व मुख्यत: पाँच प्रकार के हैं। ये पोषक तत्व हैं कार्बोहाइड्रेट, वसा, प्रोटीन, विटामिन तथा खनिज।

भोजन में पाये जाने वाले पोषक तत्व भोजन के घटक कहलाते हैं।भोजन के घटक मुख्यत: पाँच प्रकार के हैं, ये हैं कार्बोहाइड्रेट, वसा, प्रोटीन, विटामिन तथा खनिज। इनके अतिरिक्त हमारे शरीर को रूक्षांश तथा जल की भी आवश्यकता होती है। ……

चुम्बकों द्वारा मनोरंजन

मैग्नेट श्ब्द जिसे हिन्दी में चुम्बक कहते हैं, ग्रीस के एक नाम "मैग्नस" से आया है।

एक पदार्थ जिसमें लोहा (iron) की मात्रा रहती है, या लोहे (आयरन) का बना होता है, तथा उसमें लोहे को या लोहा से बने पदार्थों को आकर्षित करने की क्षमता होती है, चुम्बक [मैग्नेट (Magnet)] कहलाता है।

हमारे प्रतिदिन के जीवन में चुम्बक का काफी उपयोग होता है। वास्तव में हम चुम्बक से घिरे हुए हैं। बहुत सारे यंत्र, जिसका उपयोग दैनिक जीवन में होता है, वह चुम्बक पर आधारित है, जैसे कि बिजली से चलने वाला पंखा, विद्युत जेनरेटर, मिक्सर ग्राइंडर, कपड़ा धोने की मशीन, हेयर ड्रायर, आदि।

यहाँ तक कि पृथ्वी, जिसपर हम रहते हैं, एक बहुत बड़ा चुम्बक है।

प्राकृतिक चुम्बक मैग्नेटाइड से बना होता है। मैग्नेटाइट एक चट्टानीय खनिज है। मैग्नेटाइट में लोहा होता है, तथा इसमें लोहा या लोहे से बनी वस्तुओं को आकर्षित करने का गुण होता है। बाद में चलकर कृत्रिम चुम्बक बनाने के तकनीकि की खोज की गयी।

हमारे चारों ओर के परिवर्तन

जब कोई छोटा पौधा एक पेड़ बन जाता है, तो इसे परिवर्तन कहा जाता है। जब बर्फ पिघल कर पानी बन जाता है, तो यह परिवर्तन कहलाता है। जब पानी जम कर बर्फ बन जाता है, तो इसे परिवर्तन कहते हैं। जब कोई बल्ब जलता है, तो इसे परिवर्तन कहते हैं। जब एक व्यक्ति नये कपड़े पहनता है, तो इसे परिवर्तन कहते हैं। जब पॉलिश करने पर जूता चमकने लगता है, तो इसे परिवर्तन कहते हैं। जब सूरज उगता है, तो इसे परिवर्तन कहते हैं। जब सूरज में डूबता है, तो इसे परिवर्तन कहते हैं। हम चंद्रमा को घटते या बढ़ते देखते हैं, तो यह भी परिवर्तन कहलाता है।

इस तरह हम अपने आस पास कई तरह के परिवर्तन देखते हैं। इस तरह हम पाते हैं कि हमारा जीवन परिवर्तनों से भरा पड़ा है। दरअसल बिना परिवर्तन के जीवन संभव ही नहीं है। अत: यह आवश्यक हो जाता है कि जीवन में तथा आसपास होने वाले परिवर्तनों का क्रमिक और वैज्ञानिक अध्ययन किया जाय।