10upon10.com

सामान्य गणित: विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए (General Math:Hindi Medium)

प्रतिशत

प्रतिशत दो शब्दों "प्रति" तथा "शत" के मिलने से बना है।

"प्रति" का अर्थ है "प्रत्येक" अर्थात "Per"

तथा "शत" का अर्थ है "सैंकड़ा" या "सौ" या "100"

अर्थात प्रत...

औसत

औसत की गणना के नियम

नियम (1) दिये गये संख्याओं का औसत math average formula

 

नियम (2) दिये गये निरीक्षणों का औसत math average formula2

नियम...

लाभ हानि

क्रय मूल्य (CP): मूल्य जिसपर कोई वस्तु खरीदी जाती है, क्रय मूल्य कहते हैं। क्रय मूल्य को अंग्रेजी में कॉस्ट प्राइस (Cost Price) कहते हैं तथा संक्षिप्त में C.P. लिखा जाता है।

उदाहरण: यदि कोई वस्तु 40.00 रूपये में खरीदी जाती है, तो इसका क्रय मूल्य (CP) = 40.00 रूपया हुआ।

बिक्रय मूल्य (SP): मूल्य जिसपर कोई वस्तु बेची जाती है, बिक्रय मूल्य कहलाती है। बिक्रय मूल्य को अंग्रेजी में सेल प्राइस या सेलिंग प्राइस कहते हैं तथा इसे संक्षिप्त में S.P. लिखा जाता है।

Example: यदि कोई किताब 10.00 रूपये में खरीदी तथा 20.00 रूपये में बेची जाती है, तो यहाँ

क्रय मूल्य (CP) = 10.00 रूपया तथा बिक्रय मूल्य (SP) = 20.00 रूपया

लाभ: जब कोई वस्तु उसके क्रय मूल्य से अधिक मूल्य पर बेची जाती है, तो बेचने...

अनुपात और समानुपात

अनुपात

अनुपात के द्वारा किन्ही दो राशियों की तुलना की जाती है।

यदि `a/b` लिखा जाता है, तो इसका अर्थ यह होता है कि b की तुलना में a का भाग। अनुपात भिन्न की संख्या जैसा ही होता है।

भिन्न में यदि लिखा होता है `1/2` तो इसका अर्थ होता है, कुल 2 में से 1 भाग।

लेकिन यदि अनुपात में लिखा होता है `1/2` तो इसका अर्थ है कुल भाग है (1 + 2) = 3 और उसमें 1 और 2 भाग कितना है।

`a/b` अनुपात को a : b भी लिखा जाता है।

यहाँ a को प्रथम पद तथा b को द्वितीय पद कहा जाता है। या a को प्रथम अनुपात और b को द्वितीय अनुपात भी कहा जाता है।

भिन्न की तरह ही अनुपात के दोनों पदों में एक ही संख्या से गुणा या भाग करने पर उनके मान में कोई बदलाव नहीं होता है।

समानुपात

`a/b = c/d` लिखा होने पर इसमें `a/b` को अनुपात और `c/d` क...